सेफ़ सर्च और आपकी वेबसाइट

ऐसे कई उपयोगकर्ता हैं जो खोज के नतीजों में अश्लील कॉन्टेंट नहीं देखना चाहते हैं. Google के सेफ़ सर्च फ़िल्टर की मदद से, उपयोगकर्ता अपने ब्राउज़र की सेटिंग में बदलाव कर सकते हैं. ऐसा करके, वे अपनी खोज के नतीजों में अश्लील कॉन्टेंट दिखने से रोक सकते हैं. वेबसाइट के मालिक के तौर पर, आप यह समझने में Google की मदद कर सकते हैं कि आपकी साइट और कॉन्टेंट किस तरह का है. ऐसा करने के लिए, इस गाइड में दिए गए तरीके अपनाएं. आपकी साइट पर सेफ़ सर्च वाले फ़िल्टर लागू करने के दौरान, हम इस जानकारी का इस्तेमाल करेंगे.

सेफ़ सर्च की सुविधा के काम करने का तरीका

सेफ़ सर्च की सुविधा को खोज के ऐसे नतीजे फ़िल्टर करने के लिए बनाया गया है जो इस तरह के कॉन्टेंट पर ले जाते हैं:

  • पोर्नोग्राफ़ी या किसी भी प्रकार का सेक्शुअल ऐक्ट दिखाने वाला कॉन्टेंट
  • नग्नता
  • हिंसा या खून-खराबा दिखाने वाला कॉन्टेंट

उदाहरण के लिए, सेफ़ सर्च की मदद से ऐसे पेजों को फ़िल्टर किया जाता है जिनमें स्तन या गुप्तांग को नग्न दिखाया गया है. इसकी मदद से, ऐसे पेजों को भी फ़िल्टर किया जाता है जिन पर अश्लील कॉन्टेंट को दिखाने या उस पर ले जाने वाले लिंक, पॉप-अप या विज्ञापन मौजूद होते हैं.

Google के पास अपने ऑटोमेटेड सिस्टम (कार्रवाइयों को अपने-आप पूरा करने वाला सिस्टम) मौजूद हैं. ये सिस्टम, अश्लील कॉन्टेंट की पहचान करने के लिए मशीन लर्निंग और कई तरह के सिग्नल का इस्तेमाल करते हैं. इनसे, होस्ट किए जा रहे वेब पेज और लिंक में मौजूद अश्लील शब्दों की भी पहचान की जाती है.

यह पता करना कि सेफ़ सर्च की सुविधा आपकी वेबसाइट को फ़िल्टर कर रही है या नहीं

यह पता करने के लिए कि आपकी साइट पर मौजूद पेज की पहचान अश्लील पेज के रूप में की जा रही है या नहीं, Google Search में ऐसे कीवर्ड खोजें जिनसे आपका कॉन्टेंट खोज नतीजों में दिखे. इसके बाद, सेफ़ सर्च की सुविधा चालू करें. अगर आपको खोज नतीजों में अपना पेज नहीं दिखता है, तो इसका मतलब है कि सेफ़ सर्च की सुविधा चालू होने की वजह से आपका पेज फ़िल्टर किया जा रहा है.

यह पता करने के लिए कि आपकी पूरी साइट की पहचान अश्लील कॉन्टेंट के रूप में की जा रही है या नहीं, सेफ़ सर्च की सुविधा चालू करें और site: खोज ऑपरेटर का इस्तेमाल करें. अगर आपको खोज नतीजों में अपनी साइट नहीं दिखती है, तो इसका मतलब है कि सेफ़ सर्च की सुविधा चालू होने पर Google आपकी साइट को फ़िल्टर कर रहा है.

सेफ़ सर्च की सुविधा के लिए अपनी साइट को ऑप्टिमाइज़ करने का तरीका

इन तरीकों का इस्तेमाल करके, साइट पर मौजूद अश्लील पेजों की पहचान की जा सकती है. इससे, यह पक्का होता है कि उपयोगकर्ताओं को वही नतीजे दिखें जिन्हें वे देखना चाहते हैं या देखने की उम्मीद करते हैं, ताकि खोज के नतीजों में दिखने वाली साइटों पर जाने पर उन्हें हैरानी न हो. इन तरीकों से, हमारे सिस्टम को यह समझने में मदद मिलती है कि आपकी साइट के सिर्फ़ कुछ पेजों पर अश्लील कॉन्टेंट है, न कि पूरी साइट पर.

अश्लील कॉन्टेंट वाले पेजों में मेटाडेटा जोड़ना

किसी पेज पर अश्लील कॉन्टेंट है या नहीं, इसकी पहचान करने के लिए हमारे सिस्टम कई सिग्नल का इस्तेमाल करते हैं. जब पब्लिशर अश्लील कॉन्टेंट वाले पेजों पर यहां दिया गया मेटा टैग मार्क करते हैं (या हेडर में डालते हैं), तो उसे एक अच्छा सिग्नल माना जाता है:

<meta name="rating" content="adult" />

हमारी सलाह है कि आप इस टैग को हर उस पेज पर जोड़ें जिस पर अश्लील कॉन्टेंट मौजूद है. अगर आपकी साइट पर बहुत कम अश्लील कॉन्टेंट है, तो आपको बस यही करने की ज़रूरत है. उदाहरण के लिए, अगर आपकी साइट पर सैकड़ों पेज हैं और उनमें से सिर्फ़ कुछ पेजों पर अश्लील कॉन्टेंट मौजूद है, तो आम तौर पर ऐसे पेजों पर इस मेटा टैग को जोड़ना ही काफ़ी होता है. ऐसा करने पर, आपको सबडोमेन का इस्तेमाल करके, पेजों को एक साथ रखने की ज़रूरत नहीं होगी.

अश्लील कॉन्टेंट वाले पेजों को अलग रखना

अगर आपकी साइट पर अश्लील कॉन्टेंट और सामान्य कॉन्टेंट की मात्रा काफ़ी है, तो हम यह सुझाव भी देते हैं कि आप अपनी साइट पर मेटाडेटा जोड़ने के साथ-साथ, अश्लील कॉन्टेंट वाले पेजों को बाकी पेजों से अलग रखें.

उदाहरण के लिए, अश्लील कॉन्टेंट वाले सभी पेजों को एक अलग डोमेन या सबडोमेन पर डाला जा सकता है:

https://explicit.example.com/page.html
https://explicit.example.com/image.jpg
https://explicit.example.com/video.mp4

इसके अलावा, अश्लील कॉन्टेंट वाले सभी पेजों को एक अलग डायरेक्ट्री में भी रखा जा सकता है:

https://example.com/explicit/page.html
https://example.com/explicit/image.jpg
https://example.com/explicit/video.mp4

अश्लील कॉन्टेंट वाले पेजों को अलग न रखने पर, हमारे सिस्टम को यह लग सकता है कि आपकी पूरी साइट पर अश्लील कॉन्टेंट है. ऐसे में, सेफ़ सर्च की सुविधा चालू होने पर, पूरी साइट को फ़िल्टर किया जा सकता है, भले ही साइट पर कुछ पेज अश्लील न हों.

Google को वीडियो कॉन्टेंट वाली अपनी फ़ाइलें फ़ेच करने की अनुमति देना

Googlebot को आपकी वीडियो फ़ाइलें फ़ेच करने की अनुमति देने से, Google वीडियो कॉन्टेंट को समझ पाता है. साथ ही, इससे उन उपयोगकर्ताओं को बेहतर अनुभव मिलता है जो अश्लील नतीजे नहीं देखना चाहते या उन्हें देखने की उम्मीद नहीं करते.

इसकी मदद से, बच्चों का यौन शोषण और शोषण के ख़िलाफ़ हमारी नीति के संभावित उल्लंघनों की भी बेहतर तरीके से पहचान की जा सकती है. जब एम्बेड की गई वीडियो फ़ाइल फ़ेच नहीं हो पाती है, तो Google अश्लील पेजों के दिखने पर कुछ हद तक रोक लगा सकता है या उन्हें पूरी तरह रोक सकता है. Google तब भी ऐसा कर सकता है, जब हमारे ऑटोमेटेड सिस्टम (कार्रवाइयों को अपने-आप पूरा करने वाले सिस्टम) बताते हैं कि पेज पर बच्चों का यौन शोषण दिखाने वाला कॉन्टेंट या ऐसा कोई दूसरा मीडिया है जिस पर हमारी नीतियों के तहत रोक लगाई गई है. कॉन्टेंट से जुड़े सुरक्षा टूल और बच्चों के यौन शोषण और शोषण से निपटने के लिए Google की कोशिशों के बारे में ज़्यादा जानें.

समस्याएं हल करना

अगर यहां सुझाए गए तरीकों को अपनाने पर भी आपको ऐसा लगता है कि गलती से आपकी साइट को अश्लील के तौर पर फ़्लैग कर दिया गया है, तो यह तरीका अपनाएं:

  • अगर आपने हाल ही में बदलाव किए हैं, तो डेटा की कैटगरी तय करने वाले हमारे सिस्टम को इन्हें प्रोसेस करने में कुछ समय लग सकता है. इसमें, दो से तीन महीने तक लग सकते हैं.
  • अगर आपकी साइट के किसी पेज पर अश्लील इमेज धुंधली करके दिखाई गई हैं, तो भी उस पेज को अश्लील माना जा सकता है. ऐसा तब होता है, जब उन धुंधली इमेज को साफ़ किया जा सकता हो या उन पर क्लिक करके इमेज के साफ़ वर्शन पर जाया जा सकता हो.
  • यह समझना ज़रूरी है कि भले ही किसी भी वजह से आपकी साइट के किसी पेज पर नग्नता दिखाई गई हो, जैसे कि चिकित्सा से जुड़ी किसी प्रक्रिया को दिखाने के लिए, तो भी कॉन्टेंट को अश्लील ही माना जाएगा.
  • ध्यान रखें कि आपकी साइट पर अश्लीलता वाला यूज़र जनरेटेड कॉन्टेंट होने पर, पूरी साइट को अश्लील माना जा सकता है. साइट को तब भी अश्लील माना जा सकता है, जब हैकर ने क्लोक किए गए कीवर्ड या किसी दूसरी तकनीक का इस्तेमाल करके, उसमें अश्लील कॉन्टेंट डाला हो.
  • ध्यान दें कि रिच स्निपेट, फ़ीचर्ड स्निपेट या वीडियो की झलक जैसे खोज के नतीजे पाने की कुछ सुविधाओं के लिए, अश्लील कॉन्टेंट वाले पेजों को नहीं दिखाया जाता है. खोज के नतीजे पाने की सुविधा से जुड़ी नीतियों के बारे में ज़्यादा जानें.

अगर आपको लगता है कि सेफ़ सर्च की सुविधा, आपकी साइट को गलत तरीके से फ़िल्टर कर रही है और आपको अपनी साइट ऑप्टिमाइज़ करने के निर्देशों का पालन करते हुए दो से तीन महीने हो चुके हैं, तो हमारे फ़ोरम में थ्रेड शुरू करके, हमें इसकी जानकारी दें.