धीमी रफ़्तार से कॉन्टेंट लोड होने की समस्या को ठीक करना

ऐसा कॉन्टेंट जो ज़्यादा ज़रूरी नहीं है या जो लोगों को नहीं दिखेगा, उसके लिए "लेज़ी लोडिंग" (धीमी रफ़्तार से लोड होने) की सुविधा का इस्तेमाल किया जाता है. यह आम तौर पर, वेबसाइट की परफ़ॉर्मेंस और UX को बेहतर बनाने का सबसे सही तरीका होता है. ज़्यादा जानकारी के लिए, वेब की बुनियादी बातों और, धीमी रफ़्तार से लोड होने वाली इमेज और वीडियो के लिए बनी गाइड देखें. हालांकि, अगर इसे सही तरीके से लागू न किया जाए, तो यह सुविधा अनजाने में Google से कॉन्टेंट छिपा सकती है. इस दस्तावेज़ में वे तरीके बताए गए हैं जिनसे पक्का किया जा सकता है कि Google धीमी रफ़्तार से लोड होने वाले कॉन्टेंट को क्रॉल कर ले.

व्यूपोर्ट में दिखने पर ही कॉन्टेंट का लोड होना

Googlebot को आपके पेज का पूरा कॉन्टेंट दिखाई दे, इसके लिए पक्का करें कि जब भी व्यूपोर्ट में कॉन्टेंट दिखने लगे, तब धीमी रफ़्तार से लोड होने की सुविधा आपके सभी ज़रूरी कॉन्टेंट को लोड कर दे. यहां कुछ उदाहरण दिए गए हैं जिनमें इस काम को करने के तरीके बताए गए हैं:

लागू किए गए एलिमेंट की जांच पक्के तौर पर कर लें.

इनफ़ाइनाइट स्क्रोलिंग के लिए पेज पर नंबर डालने की प्रक्रिया का इस्तेमाल करना

अगर आपको इनफ़ाइनाइट स्क्रोलिंग अनुभव लागू करना है, तो पक्का करें कि पेज पर नंबर डालकर लोड करने की प्रक्रिया काम कर रही हो. पेज पर नंबर डालकर लोड करने की प्रक्रिया उपयोगकर्ताओं के लिए अहम है, क्योंकि इससे वे आपके कॉन्टेंट को शेयर कर पाते हैं. साथ ही, आपके कॉन्टेंट से दोबारा जुड़ पाते हैं. इससे Google भी, इनफ़ाइनाइट स्क्रोलिंग पेज के ऊपरी हिस्से के बजाय कॉन्टेंट में किसी खास पॉइंट के लिए लिंक दिखा सकता है.

पेज पर नंबर डालकर लोड करने की प्रक्रिया के लिए, हर सेक्शन के लिए खास लिंक दें जिसे उपयोगकर्ता सीधे शेयर और लोड कर सकें. जब कॉन्टेंट को लगातार लोड किया जाता है, तब हम यूआरएल को अपडेट करने के लिए इतिहास एपीआई के इस्तेमाल का सुझाव देते हैं.

जांच

प्रक्रिया सेट अप करने के बाद, पक्का करें कि यह सही तरीके से काम कर रही है या नहीं. Puppeteer स्क्रिप्ट का इस्तेमाल करके भी यह जांच की जा सकती है कि प्रक्रिया सही से लागू हुई है या नहीं. यह जांच लोकल लेवल पर की जा सकती है. इससे लाइव वर्शन पर असर नहीं पड़ता. Puppeteer एक Node.js लाइब्रेरी है जो बिना ग्राफ़िक यूज़र इंटरफ़ेस वाले Chrome को कंट्रोल करती है. स्क्रिप्ट चलाने के लिए आपको Node.js की ज़रूरत होगी. स्क्रिप्ट की जांच करने और उसे चलाने के लिए इन निर्देशों का पालन करें:

git clone https://github.com/GoogleChromeLabs/puppeteer-examples
cd puppeteer-examples
npm i
node lazyimages_without_scroll_events.js -h

स्क्रिप्ट चलाने के बाद मैनुअल तरीके से स्क्रीनशॉट इमेज की समीक्षा करें. इससे पता चलता है कि जो कॉन्टेंट आपको दिखाना है वह पेज पर मौजूद है या नहीं. साथ ही, यह भी पता चलता है Googlebot ने किन पेजों को इंडेक्स किया है.

सभी इमेज लोड हुई हैं या नहीं यह देखने के लिए, Search Console में यूआरएल की जांच करने वाले टूल का इस्तेमाल करें. स्क्रीनशॉट और रेंडर किए गए एचटीएमएल की जांच करके पक्का करें कि सभी इमेज लोड हो गई हैं.