Search Console का इस्तेमाल शुरू करने वालों के लिए गाइड

Search Console, Google का एक टूल है. इसकी मदद से, वेबसाइट के मालिक यह जान सकते हैं कि Google Search पर उनकी वेबसाइट की परफ़ॉर्मेंस कैसी है. वे यह भी जान सकते हैं कि Search पर अपनी वेबसाइट की मौजूदगी को बेहतर बनाने के लिए क्या किया जा सकता है और किस तरह अपनी वेबसाइट पर ज़्यादा ट्रैफ़िक लाया जा सकता है.

Search Console, वेबसाइटों को क्रॉल करने, इंडेक्स करने, और उन्हें खोज नतीजों में दिखाने के Google के तरीके के बारे में जानकारी देता है. इसकी मदद से वेबसाइट के मालिक, Search में अपनी साइट की परफ़ॉर्मेंस पर नज़र रख सकते हैं और उसे बेहतर कर सकते हैं.

आपको टूल में रोज़ाना लॉग इन करने की कोई ज़रूरत नहीं है. अगर Google को आपकी साइट पर नई समस्याएं मिलती हैं, तो आपको Search Console से चेतावनी वाला एक ईमेल मिलेगा. हालांकि, साइट की परफ़ॉर्मेंस पर नज़र रखने के लिए, आप महीने में कम से कम एक बार अपने खाते में लॉग-इन ज़रूर करें. इसके अलावा, साइट के कॉन्टेंट में बदलाव करने पर भी आपको खाते में लॉग-इन करना होगा और देखना होगा कि इन बदलावों का डेटा पर कोई ज़्यादा असर तो नहीं हुआ. Search Console की मदद से अपनी साइट को मैनेज करने के बारे में ज़्यादा जानें.

शुरू करने के लिए, यह तरीका अपनाएं:

  1. साइट के मालिकाना हक की पुष्टि करें. Search Console पर मौजूद सारी जानकारी का ऐक्सेस पाएं. अपनी साइट के मालिकाना हक की पुष्टि करने के तरीके के बारे में ज़्यादा जानें.
  2. पक्का करें कि Google आपके पेजों को ढूंढ और पढ़ सकता है. इंडेक्स कवरेज रिपोर्ट से आपको अपनी साइट के उन सभी पेजों की खास जानकारी मिलती है जिन्हें Google ने इंडेक्स किया है या इंडेक्स करने की कोशिश की है. उपलब्ध सूची की समीक्षा करें. साथ ही, पेज पर मिली चेतावनियों और गड़बड़ियों को ठीक करने की कोशिश करें.
  3. Google को आपकी साइट पर, मोबाइल पर इस्तेमाल से जुड़ी जो गड़बड़ियां मिली हैं उनकी समीक्षा करें. मोबाइल पर इस्तेमाल की रिपोर्ट से ऐसी समस्याओं के बारे में पता चलता है जो मोबाइल डिवाइस पर आपकी साइट ब्राउज़ करते समय, आपके उपयोगकर्ताओं के अनुभव पर बुरा असर डाल सकती हैं.
  4. Search Console में साइटमैप सबमिट करें. इस चरण के बिना Google, आपकी साइट के पेजों को खोज सकता है. हालांकि, Search Console की मदद से साइटमैप सबमिट करने पर, हो सकता है कि आपकी साइट को ज़्यादा आसानी से खोजा जा सके. टूल की मदद से साइटमैप सबमिट करने पर, इससे जुड़ी जानकारी पर नज़र रखी जा सकेगी. साइटमैप रिपोर्ट के बारे में ज़्यादा जानें.
  5. अपनी साइट की परफ़ॉर्मेंस पर नज़र रखें. Search वाली परफ़ॉर्मेंस रिपोर्ट से पता चलता है कि आपको Google Search से कितना ट्रैफ़िक मिल रहा है. इसमें क्वेरी, पेज, और देशों के हिसाब से साइट की परफ़ॉर्मेंस की जानकारी मिलती है. ऊपर बताए गए सभी पैरामीटर के हिसाब से मिली जानकारी के लिए, आपको इंप्रेशन, क्लिक, और अन्य मेट्रिक के रुझान मिलते हैं.

ज़्यादा जानने के लिए, Search Console की ज़्यादा जानकारी वाली गाइड देखें.