स्ट्रक्चर्ड डेटा के बारे में सामान्य दिशा-निर्देश

ये सामान्य दिशा-निर्देश, हर स्ट्रक्चर्ड डेटा पर लागू होते हैं. स्ट्रक्चर्ड डेटा को Google Search के नतीजों में शामिल किया जाए, इसके लिए इन दिशा-निर्देशों का पालन करना ज़रूरी है. कॉन्टेंट के इन दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वाले पेजों या साइटों को कम रैंकिंग मिल सकती है या इन्हें Google Search में रिच रिज़ल्ट के लिए नाकाबिल माना जा सकता है. ऐसा करने का मकसद हमारे उपयोगकर्ताओं के लिए अच्छा खोज अनुभव बनाए रखना है. अगर हमें पता चलता है कि आपके पेज में स्पैम वाली वेबसाइट का स्ट्रक्चर्ड डेटा या कॉन्टेंट है, तो हम आपके पेज पर मैन्युअल ऐक्शन लागू करेंगे. आपके ख़िलाफ़ मैन्युअल ऐक्शन लिया गया है या नहीं. यह देखने के लिए, Search Console में मैन्युअल ऐक्शन की रिपोर्ट खोलें.

तकनीकी दिशा-निर्देश

आप रिच रिज़ल्ट की जांच और यूआरएल जांचने वाले टूल की मदद से, यह जांच कर सकते हैं कि नतीजे तकनीकी दिशा-निर्देशों के मुताबिक हैं या नहीं. ये टूल, ज़्यादातर तकनीकी गड़बड़ियों का पता लगा लेते हैं.

फ़ॉर्मैट

आपके कॉन्टेंट को रिच रिज़ल्ट में दिखाया जा सके, इसके लिए आपको काम करने वाले इन तीन फ़ॉर्मैट में से किसी एक का इस्तेमाल करके, अपनी साइट के पेजों को मार्क करना चाहिए:

  • JSON-LD (सुझाया गया)
  • माइक्रोडेटा
  • RDFa

ऐक्सेस

robots.txt, noindex टैग या ऐक्सेस कंट्रोल के किसी भी दूसरे तरीके से, अपने स्ट्रक्चर्ड डेटा पेजों को Googlebot में ब्लॉक न करें.

क्वालिटी के लिए दिशा-निर्देश

इन दिशा-निर्देशों को अपने-आप काम करने वाले किसी टूल की मदद से आसानी से टेस्ट नहीं किया जा सकता. क्वालिटी के लिए दिए गए दिशा-निर्देश का उल्लंघन करना, वाक्य के रूप में सही स्ट्रक्चर्ड डेटा को Google Search में रिच रिज़ल्ट के तौर पर दिखने से रोक सकता है. इतना ही नहीं, इसकी वजह से उसे स्पैम के रूप में भी मार्क किया जा सकता है.

कॉन्टेंट

  • Google वेबमास्टर क्वालिटी के लिए दिशा-निर्देशों को पूरा करें.
  • ऐसी जानकारी दें जो अप-टू-डेट हो. हम ऐसे कॉन्टेंट को रिच रिज़ल्ट के तौर पर नहीं दिखाएंगे जो एक तय समय तक ही देखने के लिए उपलब्ध हो और मौजूदा समय में काम का न हो.
  • ऐसा ओरिजनल कॉन्टेंट दें जिसे आपने या आपके उपयोगकर्ताओं ने जनरेट किया है.
  • ऐसे कॉन्टेंट को मार्क अप न करें जो पेज पढ़ने वाले लोगों को नहीं दिखता है. जैसे, अगर JSON-LD मार्कअप किसी परफ़ॉर्मर के बारे में बताता है, तो एचटीएमएल बॉडी को उसी परफ़ॉर्मर के बारे में बताना चाहिए.
  • ऐसे कॉन्टेंट को मार्क अप न करें जो काम का न हो या गुमराह करता हो, जैसे कि वे झूठी समीक्षाएं या कॉन्टेंट जिनका पेज के मुख्य विषय से कोई संबंध न हो.
  • उपयोगकर्ताओं को धोखा देने या गुमराह करने के लिए स्ट्रक्चर्ड डेटा का इस्तेमाल करें. किसी व्यक्ति या संगठन की पहचान न चुराएं या अपने मालिकाना हक, संबद्धता या मुख्य उद्देश्य की गलत जानकारी न दें.
  • कॉन्टेंट को बच्चों के यौन शोषण, पशु मैथुन, यौन हिंसा, हिंसक या अमानवीय कामों, किसी को निशाना बनाकर नफ़रत या खतरनाक गतिविधियों का प्रचार नहीं करना चाहिए.
  • ऐसे कॉन्टेंट को मार्क अप करें जो गैरकानूनी गतिविधियों से जुड़ा हुआ हो या ऐसे सामान, सेवाओं, या जानकारी को बढ़ावा देता हो जो दूसरों को गंभीर और तत्काल नुकसान पहुंचाती हैं. हालांकि, आप ऐसे कॉन्टेंट को मार्क अप कर सकते हैं जिसमें शिक्षा के मकसद से इस तरह की जानकारी दी गई हो.
  • खास सुविधाओं से जुड़ी गाइड में, कॉन्टेंट के लिए अन्य दिशा-निर्देश या नीतियां शामिल होती हैं. यह ज़रूरी है कि स्ट्रक्चर्ड डेटा का कॉन्टेंट, इन दिशा-निर्देशों या नीतियों के मुताबिक हो. उदाहरण के लिए, यह ज़रूरी है कि JobPosting वाले स्ट्रक्चर्ड डेटा में मौजूद कॉन्टेंट नौकरी के विज्ञापन से जुड़े कॉन्टेंट की नीतियों का पालन करता हो. प्रैक्टिस प्रॉब्लम वाले स्ट्रक्चर्ड डेटा में मौजूद कॉन्टेंट को प्रैक्टिस प्रॉब्लम वाले कॉन्टेंट के दिशा-निर्देशों का पालन करना चाहिए.

स्ट्रक्चर्ड डेटा कितने काम का है

आपका स्ट्रक्चर्ड डेटा, पेज के कॉन्टेंट का सही प्रतिनिधित्व करने वाला होना चाहिए. यहां ऐसे डेटा के उदाहरण हैं जो काम का नहीं है:

  • खेल से जुड़ी एक लाइव स्ट्रीमिंग साइट, जिसमें ब्रॉडकास्ट को स्थानीय इवेंट के तौर पर लेबल किया गया है.
  • लकड़ी से जुड़े कामकाज करने वाली साइट, जिसमें निर्देशों को रेसिपी के तौर पर लेबल किया गया है.

पूरी जानकारी

  • आपके रिच रिज़ल्ट के लिए ज़रूरी सभी प्रॉपर्टी के बारे में बताएं. जिन आइटम में ज़रूरी प्रॉपर्टी मौजूद नहीं हैं वे रिच रिज़ल्ट के लायक नहीं होते.
  • आप जितनी ज़्यादा सुझाई गई प्रॉपर्टी देंगे, उपयोगकर्ताओं को नतीजे की क्वालिटी उतनी ही ज़्यादा अच्छी मिलेगी. उदाहरण के लिए, उपयोगकर्ता नौकरी की ऐसी पोस्ट पसंद करते हैं जिनमें वेतन के बारे में साफ़ तौर पर बताया गया हो; उपयोगकर्ता असली उपयोगकर्ताओं की समीक्षाएं और स्टार रेटिंग वाली रेसिपी पसंद करते हैं (ध्यान रखें कि जो समीक्षाएं या रेटिंग असली उपयोगकर्ताओं की नहीं हैं उन्हें स्पैम वाली माना जाता है). रिच रिज़ल्ट की रैंकिंग में ज़्यादा जानकारी को ध्यान में रखा जाता है.

जगह

  • अगर दस्तावेज़ में कोई खास पेज न बताया गया हो, तो स्ट्रक्चर्ड डेटा को उसी पेज पर रखें जिसके बारे में बताया गया हो.
  • अगर आपके पास एक ही कॉन्टेंट के लिए कई डुप्लीकेट पेज हैं, तो हमारा सुझाव है कि आप सभी डुप्लीकेट पेज पर एक जैसा स्ट्रक्चर्ड डेटा डालें, न कि सिर्फ़ कैननिकल पेज पर.

खासियत

  • अपने मार्क अप के लिए schema.org के बताए हुए लागू किए जाने वाले सबसे खास तरीके और प्रॉपर्टी के नामों का इस्तेमाल करने की कोशिश करें.
  • आपके खास रिच रिज़ल्ट के दस्तावेज़ में दिए गए सभी अतिरिक्त दिशा-निर्देशों का पालन करें.

इमेज

  • किसी इमेज को स्ट्रक्चर्ड डेटा प्रॉपर्टी के रूप में बताते समय, यह पक्का करें कि वह इमेज असल में उसी तरह के मामले से जुड़ी है. उदाहरण के लिए, अगर आप schema.org/NewsArticle.image की image प्रॉपर्टी के बारे में बताते हैं, तो मार्क अप की गई इमेज, सीधे उस समाचार लेख से जुड़ी होनी चाहिए.
  • सभी इमेज यूआरएल क्रॉल और इंडेक्स किए जा सकने वाले होने चाहिए. ऐसा न होने पर, Google Search उन्हें ढूंढकर खोज के नतीजों के पेज पर नहीं दिखा पाएगा.

एक पेज पर कई आइटम

एक पेज पर कई आइटम होने का मतलब है कि उस पेज पर एक से ज़्यादा चीज़ों के बारे में जानकारी है. उदाहरण के लिए, किसी पेज पर एक रेसिपी हो सकती है, उसे बनाने का तरीका दिखाने वाला वीडियो हो सकता है. साथ ही, लोग उस रेसिपी को कैसे ढूंढ सकते हैं, इसकी जानकारी ब्रेडक्रंब की मदद से दी जा सकती है. उपयोगकर्ता को दिखने वाली सभी जानकारी, स्ट्रक्चर्ड डेटा के साथ मार्कअप की जा सकती है. इससे Google Search जैसे सर्च इंजन के लिए, पेज में मौजूद जानकारी को समझना आसान हो जाता है. जब आप किसी पेज पर कई आइटम जोड़ते हैं, तो Google Search को पूरी जानकारी मिल जाती है कि वह पेज किस बारे में है. इसके बाद, Google Search उस पेज को अलग-अलग खोज सुविधाओं पर दिखा सकता है.

किसी रेसिपी का रिच रिज़ल्ट, जो वीडियो और समीक्षाएं, दोनों दिखाता है

Google Search को इस बात का पता चल जाता है कि आपने स्ट्रक्चर्ड डेटा वाले पेज पर एक से ज़्यादा आइटम डाले हैं. भले ही, आपने उन आइटम को नेस्ट किया हो या हर आइटम को अलग से डाला हो.

  • नेस्ट करना: जब पेज पर एक मुख्य आइटम होता है और उस मुख्य आइटम के अंदर दूसरे आइटम ग्रुप में रखे जाते हैं. इससे मिलते-जुलते आइटम के ग्रुप बनाने में खास तौर पर मदद मिलती है. उदाहरण के लिए, कोई रेसिपी जिसमें वीडियो और समीक्षाएं हों.
  • अलग-अलग आइटम: जब एक ही पेज पर, हर आइटम के लिए एक अलग ब्लॉक हो.

नेस्ट करना

यहां नेस्ट किए गए स्ट्रक्चर्ड डेटा का एक उदाहरण दिया गया है, जहां Recipe मुख्य आइटम है. साथ ही, aggregateRating और video को Recipe में नेस्ट किया गया है.

<html>
  <head>
    <title>How To Make Banana Bread</title>
    <script type="application/ld+json">
    {
      "@context": "https://schema.org/",
      "@type": "Recipe",
      "name": "Banana Bread Recipe",
      "description": "The best banana bread recipe you'll ever find! Learn how to use up all those extra bananas.",
      "aggregateRating": {
        "@type": "AggregateRating",
        "ratingValue": "4.7",
        "ratingCount": "123"
      },
      "video": {
        "@type": "VideoObject",
        "name": "How To Make Banana Bread",
        "description": "This is how you make banana bread, in 5 easy steps.",
        "contentUrl": "http://www.example.com/video123.mp4"
       }
    }
    </script>
  </head>
  <body>
  </body>
</html>

अलग-अलग आइटम

यहां स्ट्रक्चर्ड डेटा के अलग-अलग आइटम का एक उदाहरण दिया गया है. ये दो अलग-अलग आइटम हैं: Recipe और BreadcrumbList.

<html>
  <head>
    <title>How To Make Banana Bread</title>
    <script type="application/ld+json">
    [{
      "@context": "https://schema.org/",
      "@type": "Recipe",
      "name": "Banana Bread Recipe",
      "description": "The best banana bread recipe you'll ever find! Learn how to use up all those extra bananas."
    },
    {
      "@context": "https://schema.org",
      "@type": "BreadcrumbList",
      "itemListElement": [{
        "@type": "ListItem",
        "position": 1,
        "name": "Recipes",
        "item": "https://example.com/recipes"
      },{
        "@type": "ListItem",
        "position": 2,
        "name": "Bread recipes",
        "item": "https://example.com/recipes/bread-recipes"
      },{
        "@type": "ListItem",
        "position": 3,
        "name": "How To Make Banana Bread"
      }]
    }]
    </script>
  </head>
  <body>
  </body>
</html>

अन्य सलाहें

  • अगर आप चाहते हैं कि Google Search को यह समझने में आसानी हो कि आपका पेज किस बारे में है, तो ऐसा स्ट्रक्चर्ड डेटा शामिल करें जो आपके पेज की मुख्य बातें बताता हो. उदाहरण के लिए, अगर कोई पेज मुख्य तौर से किसी रेसिपी के बारे में है, तो वीडियो और समीक्षा के स्ट्रक्चर्ड डेटा के साथ-साथ रेसिपी का स्ट्रक्चर्ड डेटा ज़रूर शामिल करें. इससे, उस पेज को एक से ज़्यादा खोज नतीजों में दिखाया जा सकता है. जैसे, रेसिपी के ज़्यादा बेहतर नतीजों, वीडियो की खोज, और समीक्षा स्निपेट के तौर पर. अगर पेज में सिर्फ़ वीडियो का स्ट्रक्चर्ड डेटा मौजूद है, तो Google Search को पेज के बारे में इतनी जानकारी नहीं मिलेगी कि वह वीडियो को रेसिपी के ज़्यादा बेहतर नतीजे (रिच रिज़ल्ट) के तौर पर दिखा सके.
  • यह पक्का करने के लिए कि खोज नतीजों में दिखने वाला कॉन्टेंट, पेज पर मौजूद है, देखें कि सभी आइटम के लिए स्ट्रक्चर्ड डेटा दिया गया हो. उदाहरण के लिए, अगर आप एक से ज़्यादा समीक्षाएं शामिल करते हैं, तो आप उन सभी समीक्षाओं को ज़रूर शामिल करें जो पेज पर मौजूद लोगों को दिखती हैं. अगर पेज पर सभी समीक्षाएं मार्कअप नहीं की गई हैं, तो इससे उन लोगों में भ्रम पैदा होगा जो Search के नतीजों में आपके पेज के दिखने के आधार पर, सभी समीक्षाएं देखना चाहते हैं.