प्रारंभ करें

मोबाइल डिवाइस के लिए कोई साइट बनाते समय मुझे कौन सी तीन प्रमुख चीज़ों के बारे में पता होना चाहिए?

1. इसे सभी ग्राहकों के लिए आसान बनाना.

अपनी साइट पर आने वालों की उनके उद्देश्य पूर्ण करने में मदद करना. हो सकता है कि वे आपकी ब्लॉग पोस्ट से मनोरंजन करना चाहें, आपके रेस्तरां का पता पाना चाहें या आपके उत्पादों की समीक्षाएं देखना चाहें. Walgreens GVP और ईकॉमर्स के मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी, Abhi Dhar, स्पष्ट करते हैं, "हमारा लक्ष्य है कि हम मोबाइल पर जो कुछ भी करते हैं उससे ग्राहकों का जीवन आसान बने."

अपने ग्राहकों को उनके सबसे सामान्य कार्यों को पूरा करना आसान बनाने में मदद करने के लिए अपनी साइट को डिज़ाइन करें : संकल्पना से लेकर, अपनी साइट पर जाने तक, से कार्य पूर्ण होने तक.

यह पक्का करने के लिए कि मोबाइल डिवाइस पर चरणों को पूरा करना आसान हैं अपने ग्राहकों की यात्रा के संभावित चरणों की रूपरेखा बनाएं. अनुभव को सुव्यवस्थित करने और उपयोगकर्ता इंटरैक्शन को कम करने की कोशिश करें. इस उदाहरण में: (1) ग्राहक लैंप खरीदने के लिए उसकी खोज करने के बाद किसी साइट पर क्लिक करता है; (2) लैंप के चयन से ब्राउज़ करता है ; और (3) इच्छित लैंप खरीदता है.

2. मोबाइल ग्राहक कितनी आसानी से अपने सामान्य काम निपटा पाते हैं, इस आधार पर अपनी वेबसाइट के असर को मापना.

मोबाइल साइट बनाने के लिए प्राथमिकताएं आवश्यक है. इस पर काम करके प्रारंभ करें कि मोबाइल पर आपके ग्राहकों के लिए सबसे महत्वपूर्ण कार्य कौन से हैं. इस कार्यों का समर्थन करने में सक्षम होना महत्वपूर्ण है और इसीलिए आपकी मोबाइल साइट का मापक यह है कि ग्राहक कितने बेहतर तरीके से अपने उद्देश्यों को पूरा कर सकते हैं. आपकी साइट की डिज़ाइन को इस तरह से बनाने के तरीके हैं ताकि वह उपयोग में आसानी का भी समर्थन करे. अपने इंटरफ़ेस में अनुकूलता पर और सभी प्लेटफ़ॉर्म पर एकीकृत अनुभव प्रदान करने पर फ़ोकस करें.

"जब बात मोबाइल शॉपिंग की आती है तो मोबाइल पर खरीदारी करने वाले उपयोग में आसानी को सबसे पहले रखते हैं, जवाब देने वालों में से 48% ने इसे उन मोबाइल साइट पर जिन पर वे जाते हैं इसका सबसे महत्वपूर्ण गुणवत्ता के रूप में जिक्र किया है," MediaPost इसका हवाला देता है.

3. ऐसा मोबाइल टेम्पलेट, थीम या डिज़ाइन चुनें जो सभी डिवाइस के लिए अनुकूल हो (उदाहरण के लिए, रिस्पॉन्सिव वेब डिज़ाइन का उपयोग करता हो).

"रिस्पॉन्सिव वेब डिज़ाइन" या RWD का अर्थ है कि पेज समान URL और समान कोड का उपयोग करता है चाहे उपयोगकर्ता किसी डेस्कटॉप कंप्यूटर पर हो, टैबलेट पर हो या मोबाइल फ़ोन पर– केवल डिस्प्ले स्क्रीन के आकार के अनुसार एडजस्ट होती है या “जवाब देती है”. Google अन्य डिज़ाइन पैटर्न के मुकाबले RWD का उपयोग करने का सुझाव देता है. RWD के लाभों में से एक यह है कि आपको अपनी साइट के दो वर्शन में से केवल एक को बनाए रखने की जरूरत है (जैसे कि, आपको www.example.com पर डेस्कटॉप साइट और m.example.com पर मोबाइल वर्शन को नहीं बनाए रखना होगा– आप डेस्कटॉप और मोबाइल विज़िटर के लिए केवल एक साइट, जैसे कि www.example.com, को बनाए रखेंगे).

रिस्पॉन्सिव साइट समान URL और कोड का उपयोग करते हुए डिस्प्ले को विभिन्न स्क्रीन के लिए एडजस्ट करती है. उपरोक्त सभी तीन डिवाइस www.example.com का उपयोग करते हैं (m.example.com पर मोबाइल पेज, t.example.com पर टेबलेट पेज के बजाय, आदि).

"कई वेबसाइट बनाए बिना विभिन्न स्क्रीन आकारों पर इसके साइट अनुभव को अनुकूलित करने के लिए RWD सक्षम Baines & Ernst का उपयोग करना. उन्होंने देखा कि विज़िटर ने प्रति विज़िट अपनी साइट पर 11% अधिक पेज पर विज़िट की और मोबाइल कन्वर्ज़न 51% तक बढ़ा."

"कन्वर्ज़न" तब होता है जब ग्राहक कोई इच्छित क्रिया करता है जैसे कि उत्पाद खरीदना, व्यवसाय बढ़ाना या किसी न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करना.

रिस्पॉन्सिव वेब डिज़ाइन लागू करने के तरीके पर वेब की आधारभूत बातें पर डेवलपर सामग्री देखें. अगर आप मोबाइल, टैबलेट और डेस्कटॉप वेबसाइट के लिए विभिन्न कार्यान्वयनों के फ़ायदों और नुकसान को मापना चाहते हैं, तो मल्टी-स्क्रीन उपभोक्ता के लिए वेबसाइट बनाना पढ़ें.

ऐसी कौन सी तीन प्रमुख गलतियां हैं जिनसे शुरुआत करने वाले बचना चाहते हैं?

गलती 1 - अपने मोबाइल ग्राहकों को भूल जाना.

ध्यान रखें कि अच्छी मोबाइल साइटें उपयोगी होती हैं – वे विज़िटर को अपने कार्य पूर्ण करने में मदद करती हैं, चाहे वे कोई रोचक लेख पढ़ रहे हों या आपके स्टोर के स्थान की जांच कर रहे हों. केवल-प्रारूपित साइट (वह जो मोबाइल पर अच्छी दिखती है) बनाने के जाल में न फ़ंसें क्योंकि उसमें कोई भी उपयोगी कार्यक्षमता नहीं होती. इसके बजाय, कोई मोबाइल-फ़्रेंडली साइट (वह जो मोबाइल ग्राहकों के लिए वास्तव में उपयोगी है और सबसे सामान्य कार्यों के लिए अनुकूलित है).

गलती 2 – डेस्कटॉप साइट से किसी भिन्न डोमेन, उप-डोमेन या उपनिर्देशिका पर मोबाइल साइट लागू करना.

यद्यपि Google कई मोबाइल साइट कॉन्फ़िगरेशन , का समर्थन करता है, लेकिन अलग मोबाइल URL बनाना आपकी साइट के रखरखाव और अपडेट के लिए आवश्यक मात्रा में कार्य मेम काफ़ी वृद्धि करता है और तकनीकी समस्याओं के संभावित स्रोतों की शुरूआत करता है. आप रिस्पॉन्सिव वेब डिज़ाइन (RWD) का उपयोग करके और उसी URL पर डेस्कटॉप और मोबाइल पेश करके अक्सर चीज़ों को सरल बना सकते हैं! रिस्पॉन्सिव वेब डिज़ाइन Google का सुझाया गया कॉन्फ़िगरेशन है.

गलती 3 – प्रेरणा के लिए आसपास देखने के बजाय अलगाव में कार्य करना.

प्रेरणाओं और सर्वोत्तम प्रक्रियाओं के लिए अपने या अपने प्रतिस्पर्धियों के स्थान में अन्य साइटें देखें. हालांकि हो सकता है कि आप अपने उद्योग में मोबाइल साइट वाले पहले व्यक्ति न हों, लेकिन आपके पास अपने से पहले के लोगों से सीख पाने का फ़ायदा होता है. मोबाइल प्लेबुक और Google की मल्टी-स्क्रीन वाली सफलता की कहानियों में ऐसी ही कई चीज़ों के बारे में बताया गया है.

किसी डेवलपर के साथ काम करते समय मुझे क्या सोचना चाहिए?

अपनी मोबाइल-फ़्रेंडली साइट बनाने के लिए किसी डेवलपर के साथ काम करते समय अच्छा परिणाम पक्का करने के लिए निम्न चरणों का अनुसरण करें.

1. अपने डेवलपर के संदर्भ और मोबाइल वेबसाइट का पोर्टफ़ोलियो देखने के लिए पूछें.

अगर आपके डेवलपर को रिस्पॉन्सिव वेब डिज़ाइन (RWD) का अनुभव है, तो पूछें. अगर आपके पास केवल-डेस्कटॉप वाली साइट है, तो जानकारी पाएं कि क्या आपके डेवलपर ने किसी डेस्कटॉप साइट को किसी रिस्पॉन्सिव साइट में परिवर्तित किया है. अन्य साइटें देखें जो उन्होंने बनाई हैं. यह देखने के लिए कि वे आपके डेवलपर के बारे में कैसा महसूस करते हैं, उनके संदर्भों और पूर्व ग्राहकों से बात करें. आप डेवलपर के पोर्टफ़ोलियो को देखने के लिए Google का PageSpeed Insights जैसे टूल का उपयोग भी कर सकते हैं PageSpeed Insights ऐसे कारकों को हाइलाइट करता है जो किसी पेज की गति को रोकते हैं या पेज की उपयोगिता को नुकसान पहुंचाते हैं.

वेब की बुनियादी बातेंने गति और उपयोगकर्ता अनुभव दोनों के लिए PageSpeed Insights मोबाइल परीक्षण पास कर लिया है.

2. पक्का करें कि आपका डेवलपर आपके मोबाइल ग्राहकों को समझता है.

डेवलपर को अपने व्यवसाय के बारे में बताएं और उसे ऐसे सबसे सामान्य कार्य दें जिन्हें आप मोबाइल साइट पर अनुकूलित करना चाहते हैं. पक्का करें कि वे ऐसी साइट बनाते हैं जो मोबाइल ग्राहकों की जरूरत की कार्यक्षमता का समर्थन करती है.

3. अपने डेवलपर से गति के प्रति प्रतिबद्ध होने को कहें.

ग्राहकों को उनके ब्राउज़र में आपके पेज के लोड होने का देर तक इंतज़ार न कराएं. पूछें कि क्या आपके डेवलपर को PageSpeed Insights (उपरोक्त टूल) के बारे में पता है और क्या वे ऐसी तकनीकों से परिचित हैं जो पेज के तेज़ी से लोड होने में मदद करती हैं. WebPagetest के अनुसार आपके अनुबंध में आपके प्रतिस्पर्धियों के जितने ही जल्द पेज "रेंडरिंग" शामिल हो सकती है. या अगर यह बहुत कठिन है, तो ऐसे हरे चेकमार्क वाले PageSpeed Insights परिणाम की प्रतिबद्धता लें जिसमें “ठीक किए जाने चाहिए” से चिह्नित कोई समस्या न हो (अगर पेज को हरा चेकमार्क नहीं मिलता, तो समस्या को ठीक करने की लागत और फ़ायदों का आंकलन करने का काम आप पर और आपके डेवलपर है.) मोबाइल पेज गति पर और जानकारी वीडियो " मोबाइल वेबसाइट प्रदर्शन में त्वरित सुधार " में मिल सकती है.

4. क्या आपके डेवलपर ने वेब एनेलिटिक्स इंस्टॉल किया है.

वेब एनेलिटिक्स जैसे कि Google Analytics इंस्टॉल करें, ताकि आप अपने साइट के प्रदर्शन के बारे में एकीकृत जानकारी एकत्रित कर सके.

5. पक्का करें कि आपको और आपके डेवलपर को Google के वेबमास्टर दिशानिर्देशों के बारे में पता है.

दिशानिर्देशों में Google के आपकी साइट की सामग्री को ढूंढने, संसाधित करने और उसे रैंक करने के तरीके पर जानकारी है.

6. पक्का करें कि आपके अनुबंध में शुरूआती लॉन्च के बाद अपनी साइत को बेहतर बनाना शामिल है.

हो सकता है कि आप ग्राहकों से फ़ीडबैक और वेब एनेलिटिक्स से डेटा एकत्र करना चाहें जिसे आप अपनी साइट को और भी बेहतर बनाने के लिए शामिल करना चाहेंगे.

हो सकता है कि आप सुझाए गए मोबाइल और मल्टीस्क्रीन विक्रेताओं की Google AdWords सूची पर ध्यान देना चाहें. मोबाइल वेबसाइट को बेहतर बनाने के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए मोबाइल SEO पर हमारे दस्तावेज़ देखें.

निम्न के बारे में फ़ीडबैक भेजें...