स्ट्रक्चर्ड डेटा के काम करने का तरीका समझना

Google Search, किसी पेज के कॉन्टेंट को समझने की पूरी कोशिश करता है. पेज में स्ट्रक्चर्ड डेटा जोड़कर, आप Google को उस पेज के बारे में साफ़ तौर पर बता सकते हैं. इससे यह समझने में मदद मिलती है कि पेज को किस मकसद से तैयार किया गया है. स्ट्रक्चर्ड डेटा, पेज के बारे में जानकारी देने और पेज के कॉन्टेंट को कैटगरी में बांटने का एक स्टैंडर्ड फ़ॉर्मैट है. उदाहरण के लिए, किसी रेसिपी के पेज पर उसे बनाने में इस्तेमाल होने वाली चीज़ें, पकाने में लगने वाले समय, और तापमान के साथ-साथ कैलोरी वगैरह की जानकारी देने के लिए स्ट्रक्चर्ड डेटा का इस्तेमाल किया जा सकता है.

Google, वेब पर मिलने वाले स्ट्रक्चर्ड डेटा का इस्तेमाल कई तरह से करता है. इसमें पेज के कॉन्टेंट को समझने के अलावा, वेब और दुनिया के बारे में जानकारी इकट्ठा करना भी शामिल है. उदाहरण के लिए, यहां एक JSON-LD स्ट्रक्चर्ड डेटा स्निपेट दिया गया है, जो किसी रेसिपी पेज पर दिख सकता है. इसमें रेसिपी का शीर्षक, लेखक, और दूसरी चीज़ों की जानकारी दी गई है:

<html>
  <head>
    <title>Party Coffee Cake</title>
    <script type="application/ld+json">
    {
      "@context": "https://schema.org/",
      "@type": "Recipe",
      "name": "Party Coffee Cake",
      "author": {
        "@type": "Person",
        "name": "Mary Stone"
      },
      "datePublished": "2018-03-10",
      "description": "This coffee cake is awesome and perfect for parties.",
      "prepTime": "PT20M"
    }
    </script>
  </head>
  <body>
    <h2>Party coffee cake recipe</h2>
    <p>
      <em>by Mary Stone, 2018-03-10</em>
    </p>
    <p>
      This coffee cake is awesome and perfect for parties.
    </p>
    <p>
      Preparation time: 20 minutes
    </p>
  </body>
</html>

Google Search, खोज के नतीजों से जुड़ी खास सुविधाएं चालू करने और उन्हें बेहतर बनाने के लिए भी स्ट्रक्चर्ड डेटा का इस्तेमाल करता है. उदाहरण के लिए, जब किसी रेसिपी पेज पर सही स्ट्रक्चर्ड डेटा का इस्तेमाल होता है, तो वह पेज खोज के नतीजों में ग्राफ़िक के साथ दिखाने के लायक बन जाता है, जैसे कि यहां दिखाया गया है:

खोज नतीजों में दिखने का तरीका

ऐपल पाई की रेसिपी का ज़्यादा बेहतर नतीजा (रिच रिज़ल्ट)

स्ट्रक्चर्ड डेटा

<html>
  <head>
    <title>Apple Pie by Grandma</title>
    <script type="application/ld+json">
    {
      "@context": "https://schema.org/",
      "@type": "Recipe",
      "name": "Apple Pie by Grandma",
      "author": "Elaine Smith",
      "image": "http://images.edge-generalmills.com/56459281-6fe6-4d9d-984f-385c9488d824.jpg",
      "description": "A classic apple pie.",
      "aggregateRating": {
        "@type": "AggregateRating",
        "ratingValue": "4.8",
        "reviewCount": "7462",
        "bestRating": "5",
        "worstRating": "1"
      },
      "prepTime": "PT30M",
      "totalTime": "PT1H30M",
      "recipeYield": "8",
      "nutrition": {
        "@type": "NutritionInformation",
        "calories": "512 calories"
      },
      "recipeIngredient": [
        "1 box refrigerated pie crusts, softened as directed on box",
        "6 cups thinly sliced, peeled apples (6 medium)"
      ]
    }
    </script>
  </head>
  <body>
  </body>
</html>

स्ट्रक्चर्ड डेटा, रेसिपी की जानकारी देने वाले हर एलिमेंट को लेबल करता है. इसका फ़ायदा यह होता है कि लोग आपकी रेसिपी को, उसे बनाने में इस्तेमाल होने वाली चीज़ों, कैलोरी की संख्या, और पकाने में लगने वाले समय जैसी जानकारी का इस्तेमाल करके भी खोज सकते हैं.

स्ट्रक्चर्ड डेटा को इन-पेज मार्कअप की मदद से, उसी पेज पर कोड किया जाता है जिस पर वह कॉन्टेंट होता है. पेज पर मौजूद स्ट्रक्चर्ड डेटा यह जानकारी देता है कि पेज का कॉन्टेंट किस बारे में है. सिर्फ़ स्ट्रक्चर्ड डेटा रखने के लिए खाली पेज नहीं बनाने चाहिए. इसके अलावा, ऐसी जानकारी के लिए भी स्ट्रक्चर्ड डेटा नहीं जोड़ना चाहिए जो उपयोगकर्ता को नहीं दिखती है. भले ही, वह जानकारी सही हो. तकनीकी और क्वालिटी के दिशा-निर्देशों के बारे में ज़्यादा जानने के लिए, स्ट्रक्चर्ड डेटा के लिए सामान्य दिशा-निर्देश देखें.

स्ट्रक्चर्ड डेटा का फ़ॉर्मैट

इस दस्तावेज़ में बताया गया है कि Google Search में आपके पेज को दिखाने के लिहाज़ से, स्ट्रक्चर्ड डेटा के लिए कौनसी प्रॉपर्टी ज़रूरी हैं, किन प्रॉपर्टी को शामिल किया जा सकता है या किन प्रॉपर्टी का इस्तेमाल करना ज़रूरी नहीं है. Search के ज़्यादातर स्ट्रक्चर्ड डेटा में schema.org पर दिए गए शब्दों का इस्तेमाल किया जाता है. हालांकि, यह समझने के लिए कि Google Search कैसे काम करता है, आपको schema.org के बजाय, Google Search Central के दस्तावेज़ पर भरोसा करना चाहिए. schema.org पर ऐसे बहुत सारे एट्रिब्यूट और ऑब्जेक्ट हैं जो Google Search के लिए ज़रूरी नहीं हैं. हालांकि, उनका इस्तेमाल दूसरी सेवाओं, टूल, और प्लैटफ़ॉर्म के लिए किया जा सकता है.

अपने पेजों की परफ़ॉर्मेंस पर नज़र रखने के लिए, स्ट्रक्चर्ड डेटा बनाते समय रिच रिज़ल्ट टेस्ट की मदद से इसकी जांच करें. साथ ही, पेज पर इसके लाइव होने के बाद रिच रिज़ल्ट स्टेटस रिपोर्ट ज़रूर देखें. ऐसा करना इसलिए ज़रूरी है, क्योंकि स्ट्रक्चर डेटा के लाइव होने के बाद टेंप्लेटिंग और पेज खुलने से जुड़ी समस्याओं के चलते पेज की परफ़ॉर्मेंस पर बुरा असर पड़ सकता है.

Google Search में किसी ऑब्जेक्ट को बेहतर तरीके से दिखाने के लिए, आपको उस ऑब्जेक्ट में सभी ज़रूरी प्रॉपर्टी को शामिल करना होगा. आम तौर पर, सुझाई गई सुविधाओं का इस्तेमाल करने से आपकी जानकारी Search के नतीजों में बेहतर तरीके से दिख सकती है. हालांकि, सुझाई गई हर प्रॉपर्टी के लिए, अधूरा, गलत तरीके से फ़ॉर्मैट किया गया या गलत डेटा देने से बेहतर है कि आप कुछ ही प्रॉपर्टी का इस्तेमाल करें, लेकिन उनके लिए पूरा और सही डेटा दें.

यहां बताई गई प्रॉपर्टी और ऑब्जेक्ट के साथ-साथ, Google, sameAs प्रॉपर्टी और schema.org के अन्य स्ट्रक्चर्ड डेटा का इस्तेमाल कर सकता है. ज़रूरत पड़ने पर, इनमें से कुछ चीज़ों का इस्तेमाल, आने वाले समय में Search की सुविधाओं को चालू करने के लिए किया जा सकता है.

जब तक कुछ और न बताया जाए, तब तक Google Search में इन फ़ॉर्मैट के स्ट्रक्चर्ड डेटा का इस्तेमाल किया जा सकता है:

फ़ॉर्मैट
JSON-LD* (सुझाया गया) यह एक JavaScript नोटेशन है, जिसे पेज के शीर्षक या मुख्य जानकारी देने वाले सेक्शन में <script> टैग के तौर पर जोड़ा जाता है. उपयोगकर्ताओं को दिखने वाले टेक्स्ट में इस मार्कअप को शामिल नहीं किया जाता है. इससे, नेस्ट किए गए आइटम को दिखाना आसान हो जाता है. जैसे, किसी Event के MusicVenue के PostalAddress का Country. इसके अलावा, JSON-LD डेटा को पेज के कॉन्टेंट में डाइनैमिक तरीके से डालने पर, Google इस डेटा को पढ़ सकता है. जैसे, आपके कॉन्टेंट मैनेजमेंट सिस्टम में जोड़े गए विजेट या JavaScript कोड की मदद से जोड़ा गया JSON-LD डेटा.
माइक्रोडेटा यह एक एचटीएमएल एट्रिब्यूट है, जिसे कोई भी इस्तेमाल कर सकता है. इसका इस्तेमाल, एचटीएमएल कॉन्टेंट में स्ट्रक्चर्ड डेटा को नेस्ट करने के लिए किया जाता है. RDFa की तरह, इसमें भी एचटीएमएल टैग एट्रिब्यूट का इस्तेमाल करके, उन सभी प्रॉपर्टी को नाम दिया जाता है जिन्हें आप स्ट्रक्चर्ड डेटा की तरह दिखाना चाहते हैं. आम तौर पर, इसका इस्तेमाल पेज की मुख्य जानकारी वाले हिस्से में होता है, लेकिन इसे शीर्षक में भी इस्तेमाल किया जा सकता है.
RDFa HTML5 एक एक्सटेंशन है, जो लिंक किए गए डेटा को एचटीएमएल टैग एट्रिब्यूट की मदद से इस्तेमाल करता है. ये एट्रिब्यूट उपयोगकर्ताओं को दिखने वाले उस कॉन्टेंट से जुड़े होते हैं जिसकी जानकारी आप सर्च इंजन को देना चाहते हैं. RDFa का इस्तेमाल, आम तौर पर एचटीएमएल वाले पेज के शीर्षक और मुख्य जानकारी वाले हिस्से, दोनों में किया जाता है.

स्ट्रक्चर्ड डेटा के लिए दिशा-निर्देश

आप अपने स्ट्रक्चर्ड डेटा पर लागू होने वाले दिशा-निर्देशों के साथ-साथ, स्ट्रक्चर्ड डेटा के लिए सामान्य दिशा-निर्देशों का भी पालन करें. ऐसा न करने पर, हो सकता है कि आपका स्ट्रक्चर्ड डेटा, Google Search के रिच रिज़ल्ट में न दिखे.

स्ट्रक्चर्ड डेटा का इस्तेमाल शुरू करना

अगर आप स्ट्रक्चर्ड डेटा के बारे में ज़्यादा नहीं जानते, तो स्ट्रक्चर्ड डेटा का इस्तेमाल शुरू करने वालों के लिए बनी schema.org की गाइड को पढ़ें. हालांकि, यह गाइड माइक्रोडेटा को इस्तेमाल करने के बारे में खास जानकारी देती है, लेकिन इसकी बुनियादी बातें JSON-LD और RDFa पर भी लागू होती हैं. किसी वेब पेज में स्ट्रक्चर्ड डेटा जोड़ने के सिलसिलेवार निर्देशों के लिए, हमारा स्ट्रक्चर्ड डेटा कोडलैब (कोड बनाना सीखना) देखें.

स्ट्रक्चर्ड डेटा से जुड़ी बुनियादी बातें समझने के बाद, Google Search की सुविधाओं वाली गैलरी को एक्सप्लोर करें और लागू करने के लिए, कोई सुविधा चुनें. हर गाइड, स्ट्रक्चर्ड डेटा को लागू करने के उन तरीकों के बारे में पूरी जानकारी देती है जिनसे आपकी साइट, Google Search के रिच रिज़ल्ट में दिख सके.

Google Search की सुविधाओं वाली गैलरी के बारे में जानना