पेज की परफ़ॉर्मेंस से जुड़े अपडेट के लिए ज़्यादा समय, टूल, और जानकारी पाएं

सोमवार, 19 अप्रैल, 2021

हमने पिछले नवंबर में यह एलान किया था कि पेज की परफ़ॉर्मेंस से, रैंकिंग पर होने वाले बदलाव को इस साल Google Search पर लागू किया जाएगा. इस बदलाव को हमने "पेज की परफ़ॉर्मेंस से जुड़ा अपडेट" नाम दिया है. पब्लिशर और साइट के मालिकों को उनके पेज की परफ़ॉर्मेंस को बेहतर बनाने और इस बदलाव से जुड़ी तैयारी करने के लिए, आज हम कुछ ज़रूरी अपडेट का एलान कर रहे हैं:

  1. इस साल जून के मध्य से, अपडेट धीरे-धीरे रोल आउट किए जाएंगे
  2. अपडेट में क्या शामिल किया जाएगा, इसके बारे में जानकारी
  3. Search Console में, पेज की परफ़ॉर्मेंस के बारे में बताने वाली नई रिपोर्ट
  4. Google Search पर मौजूद सभी तरह के कॉन्टेंट के लिए, साइन किए हुए एक्सचेंज से जुड़ी सहायता

इस साल जून के मध्य से, अपडेट धीरे-धीरे रोल आउट किए जाएंगे

जून 2021 के मध्य से, हम पेज की परफ़ॉर्मेंस को अपने रैंकिंग सिस्टम के एक हिस्से के तौर पर इस्तेमाल करना शुरू कर देंगे. हालांकि, अगस्त के आखिर तक पेज की परफ़ॉर्मेंस को पूरी तरह से रैंकिंग सिस्टम के हिस्से के तौर पर इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. इसको ऐसे समझा जा सकता है कि खाना बनाते समय, हम एक बार में ही सारे मसाले नहीं डाल देते, बल्कि धीरे-धीरे डालते हैं. इसी तरह, हम धीरे-धीरे इस समयावधि के दौरान अपडेट रोल आउट करते रहेंगे.

जैसा कि हमने पहले भी कहा है, इस अपडेट की मदद से, हम उन पेजों को हाइलाइट करना चाहते हैं जो उपयोगकर्ताओं को एक शानदार अनुभव देते हैं. हालांकि, हमारे सिस्टम, पेज की परफ़ॉर्मेंस के अलावा और भी कई पहलुओं को ध्यान में रखते हैं. इसे देखते हुए, साइटों को आम तौर पर बहुत ज़्यादा बदलावों की उम्मीद नहीं रखनी चाहिए. इसके अलावा, अपडेट को धीरे-धीरे लागू करने की वजह से हम हर उस समस्या पर नज़र रख पाएंगे जिसकी हमने उम्मीद नहीं की है या जिसके लिए हम तैयार नहीं हैं.

हमें उम्मीद है कि अपडेट रोल आउट करने के इस नए शेड्यूल की मदद से, पेज की परफ़ॉर्मेंस को ध्यान में रखते हुए अपनी वेबसाइट को बेहतर बनाना जारी रखा जा सकेगा. इस अपडेट को रोल आउट करने से पहले हम लोगों से सुझाव ले रहे हैं, ताकि यह पक्का किया जा सके कि हम साइट के मालिकों को ऐसी जानकारी दे रहे हैं जिससे उनको फ़ायदा हो. साथ ही, हम पेज की परफ़ॉर्मेंस को उनके उपयोगकर्ताओं के लिए बेहतर बनाने से जुड़े सवालों के जवाब भी दे सकें.

अपडेट में क्या शामिल किया जाएगा, इसके बारे में जानकारी

जैसा कि पहले एलान किया गया था, पेज की परफ़ॉर्मेंस के अपडेट में पेज की परफ़ॉर्मेंस से जुड़े कई पहलुओं को ध्यान में रखा जाएगा. इनमें, वेबसाइट की परफ़ॉर्मेंस की जानकारी देने वाली ये तीन मेट्रिक शामिल हैं: एलसीपी, एफ़आईडी, और सीएलएस. इसमें सीएलएस में Chrome की ओर से हाल ही में किया गया बदलाव भी शामिल है. साथ ही, Google Search पर टॉप स्टोरी कैरसेल की सुविधा को अपडेट करके, उसमें सभी तरह की खबरों को जोड़ा जाएगा. शर्त यह है कि वह कॉन्टेंट Google News की नीतियों का पालन करता हो. इसका मतलब है कि एएमपी फ़ॉर्मैट का इस्तेमाल करना अब ज़रूरी नहीं है. इसके अलावा, टॉप स्टोरी कैरसेल में कोई भी पेज दिख सकता है, भले ही उस पेज की परफ़ॉर्मेंस की स्थिति या उसके परफ़ॉर्मेंस की जानकारी की रिपोर्ट का स्कोर कैसा भी हो.

हम Google News ऐप्लिकेशन में भी इससे मिलते-जुलते अपडेट ला रहे हैं. यह पूरी दुनिया के उपयोगकर्ताओं के लिए एक ऐसा प्लैटफ़ॉर्म है जहां कम शब्दों में, दिन की अहम खबरों के बारे में ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी दी जाती है. पेज की परफ़ॉर्मेंस से जुड़े अपडेट में, हम news.google.com और Google News ऐप्लिकेशन पर बिना एएमपी वाले कॉन्टेंट के इस्तेमाल को बढ़ावा देने के लिए काम कर रहे हैं. ऐसा news.google.com और Google News ऐप्लिकेशन के अनुभव को बेहतर बनाने के लिए किया जा रहा है.

इसके अलावा, हम एएमपी कॉन्टेंट को दिखाने के लिए, उस पर एएमपी बैज वाला आइकॉन नहीं दिखाएंगे. जब जून के मध्य में पेज की परफ़ॉर्मेंस से जुड़ा अपडेट रोल आउट होना शुरू होगा, तब आपको हमारे प्रॉडक्ट में एएमपी बैज से जुड़ा यह बदलाव दिखेगा. ऐसे कॉन्टेंट जिनके पेज की परफ़ॉर्मेंस अच्छी हो, उनकी पहचान करने के लिए, हम लगातार अन्य तरीके खोजते रहेंगे. साथ ही, आपको समय-समय पर उनसे जुड़ी जानकारी भी देते रहेंगे.

ज़्यादा जानकारी पाने के लिए, वेबसाइट की परफ़ॉर्मेंस की जानकारी और पेज की परफ़ॉर्मेंस से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले सवाल देखें. इन्हें हमने हाल ही में, Search Central फ़ोरम पर पब्लिश किया है. अगर आप एएमपी पब्लिशर हैं, तो एएमपी टीम ने आपकी मदद के लिए, एएमपी पेज की परफ़ॉर्मेंस से जुड़ी गाइड तैयार की है. आपको इस गाइड में एएमपी पेज की परफ़ॉर्मेंस को बेहतर बनाने के तरीकों से जुड़ी खास सलाह मिलेगी.

Search Console में, पेज की परफ़ॉर्मेंस के बारे में बताने वाली नई रिपोर्ट

पेज की परफ़ॉर्मेंस के बारे में आपको काफ़ी अहम जानकारी देने के लिए, हम पेज की परफ़ॉर्मेंस रिपोर्ट ला रहे हैं. इस रिपोर्ट में, वेबसाइट की परफ़ॉर्मेंस की जानकारी देने वाली मौजूदा रिपोर्ट के साथ-साथ, पेज की परफ़ॉर्मेंस बताने वाले सिग्नल से जुड़े दूसरे कॉम्पोनेंट शामिल किए गए हैं. इन कॉम्पोनेंट में, एचटीटीपीएस सुरक्षा, पेज पर अचानक दिखने वाले विज्ञापनों का न होना, और आपकी साइट, मोबाइल पर ठीक से काम करेगी या नहीं, इससे जुड़ी जानकारी शामिल है.

पेज की परफ़ॉर्मेंस रिपोर्ट में, आपको काफ़ी अहम मेट्रिक मिलती हैं. जैसे, उन यूआरएल का प्रतिशत जिनके पेज की परफ़ॉर्मेंस अच्छी है और जिन्हें खोज के नतीजों में अक्सर दिखाया जाता है. इन मेट्रिक की मदद से, अपने वेब पेजों की परफ़ॉर्मेंस का तेज़ी से आकलन किया जा सकता है. आप पेज की परफ़ॉर्मेंस के कॉम्पोनेंट को बारीकी से देख सकते हैं. इससे, आप ज़्यादा अच्छे से समझ पाएंगे कि पेजों में किस तरह के सुधार किए जा सकते हैं.

Search Console में, पेज की परफ़ॉर्मेंस के बारे में बताने वाली रिपोर्ट

पेज की परफ़ॉर्मेंस के बारे में बताने वाली रिपोर्ट लॉन्च करने के साथ-साथ, हमने Search पर पेज की परफ़ॉर्मेंस के बारे में बताने वाली रिपोर्ट भी अपडेट की है. इससे, आपको अच्छी परफ़ॉर्मेंस वाले पेजों को फ़िल्टर करना आसान हो जाएगा. फ़िल्टर करके आप यह ट्रैक कर पाएंगे कि उसी साइट पर मौजूद दूसरे पेजों की तुलना में इन पेजों की परफ़ॉर्मेंस कैसी है.

Google Search पर मौजूद सभी तरह के कॉन्टेंट के लिए, साइन किए हुए एक्सचेंज से जुड़ी सहायता

आज हम यह भी एलान कर रहे हैं कि Google Search पर, सभी वेब पेजों के लिए साइन किए हुए एक्सचेंज (एसएक्सजी) सामान्य रूप से उपलब्ध हैं. पहले, Google Search सिर्फ़ एएमपी फ़्रेमवर्क के साथ बनाए गए एसएक्सजी उपलब्ध कराता था.

एसएक्सजी की मदद से, Google Search आपकी निजता को बनाए रखते हुए पेजों को प्रीफ़ेच करने की तकनीक का इस्तेमाल कर पाता है. यह तकनीक कुछ ही ब्राउज़र पर काम करती है. इससे, पेज की परफ़ॉर्मेंस को बेहतर बनाया जा सकता है. Google Search इस तकनीक की मदद से, नेविगेशन से पहले किसी पेज (एचटीएमएल, JavaScript, सीएसएस) के मुख्य रिसॉर्स लोड कर पाता है. इससे, ब्राउज़र पर पेज तेज़ी से दिखता है.

जापान की एक बड़ी वेबसाइट Nikkei, अपनी वेबसाइट Nikkei Style पर एसएक्सजी का इस्तेमाल करती रहती है और इसने सबसे बड़े कॉन्टेंटफ़ुल पेंट (एलसीपी) में 300 मि॰से॰ की कमी देखी. Nikkei ने यूज़र ऐक्टिविटी में 12% और हर सेशन में मिलने वाले पेज व्यू में 9% की बढ़त भी देखी. यह बढ़त Android Chrome पर देखी गई, जिस पर यह जांच की गई थी. अपनी साइट पर एसएक्सजी को लागू करने के लिए, Nikkei ने nginx-sxg-module को चुना, जो कि NGINX सर्वर के लिए एक ओपन सोर्स एक्सटेंशन है.

एसएक्सजी टूल का इस्तेमाल करने के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए, साइन किए हुए एक्सचेंज (एसएक्सजी) देखें. एसएक्सजी को सेट अप करने के निर्देश जानने के लिए, वेब पैकेजर का इस्तेमाल करके, साइन किए हुए एक्सचेंज को सेट अप करने का तरीका देखें.

साथ मिलकर, एक बेहतर वेब बनाना

पेज की परफ़ॉर्मेंस को लेकर हमारा मकसद है कि हम साथ मिलकर, एक ऐसा वेब नेटवर्क बनाएं जिसे उपयोगकर्ता पसंद करें. हम यह पक्का करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं कि जून 2021 के मध्य में रैंकिंग के लॉन्च होने से पहले, आपके पास सही टूल और संसाधन उपलब्ध हों.

हमें उम्मीद है कि आज शेयर किए गए अपडेट के बाद, आपको बेहतर वेबसाइटें बनाने में आसानी होगी. अगर आपका कोई सवाल या सुझाव/राय है या आपको कोई शिकायत करनी है, तो कृपया हमारे सहायता फ़ोरम पर जाएं. इसके अलावा, हाल ही में पब्लिश किए गए अक्सर पूछे जाने वाले सवाल देखें या Twitter पर हमें बताएं.